Hindi Debates

Home/Hindi Debates
Hindi Debates2016-11-21T04:37:45+00:00
1003, 2011

भारतीय संस्कृति विदेशियों को प्रभावित कर रही है-पक्ष

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

जिस देश में बहती मधु की धारा , जहाँ होता पितरो का आदर , जिस देश में वीर-जवान , अपनी धरती को प्यार, वह देश है हिंदुस्तान , वह देश है हिंदुस्तान, सभी प्राणी अपनी [...]

1003, 2011

सदन की राय में महिलाओं का नौकरी करना परिवार के लिए उपयुक्त है.-पक्ष

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

पक्ष केहि विधि रचो नारी जग माहि पराधीन सपनेहु सुख नही सदियों से नारी ने दस्ताकी जिंदगी जी है । बचपन में पिता के अधीन रहना पड़ा ,तो युवा -अवस्था में पति के अधीन व् [...]

1003, 2011

सदन की राय में महिलाओ का नौकरी करना परिवार के लिया उपुक्त हैं

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

विपक्ष नारी तुम केवल श्रदा हो, विश्वास रजत नभ पग तल में पियूष स्तोत्र सी बहा करो, जीवन के सुंदर तल में भारत की नारी का नाम सुनते ही हमारे सामने प्रेम, करुना, दया ,त्याग [...]

803, 2011

सदन की राय में महिलाओं का नौकरी करना परिवार के लिए उपयुक्त है.-पक्ष

By |Categories: HIndi Debates|1 Comment

पक्ष केहि विधि रचो नारी जग माहि पराधीन सपनेहु सुख नही सदियों से नारी ने दस्ताकी जिंदगी जी है । बचपन में पिता के अधीन रहना पड़ा ,तो युवा -अवस्था में पति के अधीन व् [...]

803, 2011

सदन की राय में महिलाओ का नौकरी करना परिवार के लिया उपुक्त हैं-विपक्ष

By |Categories: HIndi Debates|1 Comment

विपक्ष नारी तुम केवल श्रदा हो, विश्वास रजत नभ पग तल में पियूष स्तोत्र सी बहा करो, जीवन के सुंदर तल में भारत की नारी का नाम सुनते ही हमारे सामने प्रेम, करुना, दया ,त्याग [...]

907, 2009

दोस्त -पक्ष

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

आपने आज का अखबार पढ़ा कल् के मुख्या समाचार पढे . क्या सन-सनी देखा. गुडगाँव ए क एक स्कूल में क्या हुआ? क्यो हो गए चुप? क्यों उतर आई निराशा आपकी आंखों में? कारन / [...]

907, 2009

दोस्त -दोस्त न रहा – विपक्ष

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

विपक्ष " यह दिन न कभी हम भूल पायेंगे तुम्हारी दोस्ती के बिना हम जी नही पायेंगे याद आएँगी सिर्फ़ तुम्हरी ही बातें यही शब्द होठो पर लेकर जायेंगे” यह हम सभी जानते हैं की [...]

207, 2009

पुरस्कृत-पक्ष

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

पक्ष में आप सभी से पूछना चाहती हु की २१ वि शताब्दी में भारत की नारी को अबला समझना कहाँ तक उचित है। आज की नारी शक्ति और क्षमता किसी से छुपी नही है। आगे [...]

2506, 2009

पुरस्कृत-विपक्ष

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

विपक्ष आंखों में जलन, सींने में तूफान सा क्यों है ? इस शहर में हर शख्स परेशान सा क्यों है ? आप सभी से में ये पूछना चाहती हु की वह बच्चा क्यों रो रहा [...]

2905, 2009

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बच्चे उद्दंड हो रहे हैं |-पक्ष और विपक्ष

By |Categories: HIndi Debates|0 Comments

पक्ष वह बच्चा कक्षा में सिगरेट क्यों पी रहा है? अरे कक्षा में इतना शोर क्यों हो रहा है ? अध्यापक परेशान क्यों है? विद्यालय में पुलिस क्यों आई है? मैं बताती हूँ ..... ये [...]

Go to Top