[ultimatemember form_id=12643]

Hindi Blog

/Hindi Blog
Hindi Blog 2016-11-21T04:37:45+00:00
2906, 2009

नियति

June 29th, 2009|

नियति मैं नियति हूँ आप मुझे जानकर भी नही जानते इसलिए अपना परिचय देना आवश्यक है यथार्थ यह है कि कुछ को हम जानने के इच्छुक रहते हैं और किसी को जानकर भी नही जानना [...]

2606, 2009

बदला

June 26th, 2009|

बदला .......बदला ..................बदला ..............कितना उन्माद और अविवेक से लिया गया निर्णय होता है इसको बढावा देते हैं अपमान की भावना ,ईर्ष्या ,द्वेष और नीचा दिखाने की प्रवृत्ति जितनी यह भावना प्रबल होती है बदला भी [...]

2406, 2009

जब तुम थीं ……

June 24th, 2009|

जब तुम थीं तब लगता था सारा संसार खुशियों ,उमंगों से भरा था कहीं कोई कमी न थी हर तरफ प्यार ही प्यार ,सब हमारे थे कोई पराया न था लगता था सब जाने -पहचाने [...]

2905, 2009

लाफिंग बुद्धा का महत्व

May 29th, 2009|

जब भी लाफिंग बुद्धाको देखती हूँ स्वत;हंसी आ जाती हैकारन एक ही समझ आता है कियदि खुश रहना है तो मस्त रहो न कपड़ो की चिंता न जेवरों की बस इन keइ तरह रहें हर [...]

303, 2009

आंसू

March 3rd, 2009|

आँसू भी क्या चीज है ! कैसा पदार्थ बनाया है भगवान ने जिसका न स्रोत पता न उद्गम| भावनाओं का गुबार उठा और बह चले आँसू ,खुशी में भी आँसू में भी आँसू ,प्यार में [...]

1902, 2009

आख़िर

February 19th, 2009|

"पापा मुझे दो हजार रुपए चाहिए "मनोज ने अपने पिता ग्रह मंत्री श्री नारायण सिंह से कहा | "लो बेटा "पिता ने जेब मैं हाथ डाला और बिना गिने ही नोटों की गड्डी उसे थमा [...]

1802, 2009

प्रेरणा

February 18th, 2009|

शाम को थकी हारी मैं बालकनी में कपडे उठाने आई तो ठिठक कर रह गयी .सामने ही नई इमारत बन रही थी .कईदिनों से काम चल रहा था लेकिन मैं गर्मी की उमस एवंम आलस्य [...]

1702, 2009

यादें

February 17th, 2009|

स्मृतियों की गुफाओं मेंछुपी यादें ही तो जीवन का सहारा हैं .कभी निराशा में आकर ये सहारा दे जाती हैं .जीवन का मतलब सिखा जाती हैं .आगे बढ़ने की प्रेरणा दे जाती हैं .कभी बातोंका [...]

1402, 2009

कल्पना की उड़ान

February 14th, 2009|

सबला जीवन : रैड लाइट देख कर तेजी से चल रही कार के यकायक ब्रेक लग गए और कुछ रुकने का समय मिला .इधर --उधर नजर दौडाई तो हैरान रह गयी .जब अपनी ही बगल [...]

Pin It on Pinterest

Share This