[ultimatemember form_id=12643]

Hindi Blog

/Hindi Blog
Hindi Blog 2016-11-21T04:37:45+00:00
2106, 2011

आओ कार चलाना सीखें

June 21st, 2011|

" आओ कार चलाना सीखें " आज की इस भागम -भाग की जिंदगी में यदि किसी को निजी वाहन चलाना न आता हो ,तो वह हाथ -पैर होते हुए भी अपंग के समान हो जाता [...]

506, 2011

बाबा राम देव पर हमला

June 5th, 2011|

बाबा राम देव पर हमला ---------------- ४ जून की अर्द्ध रात्रि को बाबा के अनसन और भ्रष्टाचार के खिलाफ विरोध पर पुलिस के द्वारा की गई कार्यवाही को क्या कहा जाए ? ऐसा बर्बर प्रदर्शन [...]

406, 2011

हमको लिखो है कहा

June 4th, 2011|

" हमको लिखो है कहा  !" पत्र ,पाती ,खत ,चिठ्ठी ,चिठिया जितने नाम उससे भी कहीं अधिक भावों को अभिव्यक्त करते हैं ,ये शब्द | डाकिया  {पोष्ट मैन }को देखते ही आशा का भाव जाग्रत [...]

406, 2011

उत्तर कांड {राम चरित मानस }

June 4th, 2011|

उत्तर कांड  {राम चरित मानस } राम चरित मानस का बखान करना ईश्वर की तरह अनन्त है |यह वह ग्रन्थ है जिस में शिक्षित, साक्षर ,निरक्षर डूब -डूब जाते हैं | भक्ति की दृष्टि से [...]

2205, 2011

प्रमुख लोगों की दुर्बलताएँ

May 22nd, 2011|Tags: , , , , , , |

प्रमुख-लोगों-की-दुर्बलताएँ युधिष्ठिर.....क्षत्रिय कुल में जन्म लेकर भी युद्ध के प्रति घोर वितृष्णा मेरे चरित्र की दुर्वलता है | अर्जुन .......माँ के वचन रख कर मैंने द्रोपदी के साथ ;विवाह किया ;इस बात पर मन में [...]

2205, 2011

अज्ञात वास में पांडवों के नाम

May 22nd, 2011|

अज्ञात वास के समय पांडवों के नाम ---- १ युधिष्ठिर----कंक ब्राह्मण -----सांकेतिक नाम --जय | २ भीम -----बल्लभ -----सांकेतिक नाम ---जयेश | ३ अर्जुन ----वृहन्गला ---सांकेतिक नाम ----जयेन्द्र | ४ नकुल ----ग्रंथिका ----सांकेतिक नाम ----जयत्सेन [...]

2105, 2011

क्या आप जानते हैं

May 21st, 2011|Tags: , , , , , , |

-----भक्त चार प्रकार के होते हैं -------- १ आर्त  जो कष्टों से पीड़ित होने के कारण भगवान की शरण में आते हैं | २ जिज्ञासु - जो जिज्ञासा के कारण भगवान की शरण में आते [...]

2105, 2011

ध्यान को समझो

May 21st, 2011|Tags: , , , , |

भटकन हमारा सबसे बड़ा शत्रु है |इससे बचने का एक मात्र उपाय है ध्यान | ध्यान में तीव्र आभा है ,ध्यान में प्राणों की गति आकंठ डूबीं रहती है | ध्यान मौन है |ध्यान करने [...]

2204, 2011

द्रौपदी पुत्र

April 22nd, 2011|

द्रोपदी और युधिष्ठिर का पुत्र ---प्रतिविन्ध्य था | द्रोपदी और भीम का पुत्र ----सुतसोम था| द्रोपदी और अर्जुन का पुत्र ---श्रुतिकीर्ति था | द्रोपदी और नकुल का पुत्र ----शतानीक था | द्रोपदी और सहदेव का [...]

1904, 2011

प्रशंसा करने में हिचकिए मत

April 19th, 2011|Tags: , , , , |

प्रशंसा करने में हिचकिए मत - १ अच्छाइयों के प्रकाश में बुराईयों का अन्धकार स्वत: ही दूर हो जाता है २ प्रशंसा व्यक्ति के अंदर छिपी प्रतिभा को जाग्रत कर कर्म के प्रति उत्साह एवं [...]

1904, 2011

पत्र क्या है

April 19th, 2011|

पत्र क्या है_.....पत्र के बारे में आज कुछ एसी पंक्तियाँ पढ़ीं कि दिल बाग -बाग हो गया और सोचा कि आप सब को भी यह आनन्दप्राप्त करने का अवसर दूँ - पत्र क्या है ;मानो [...]

1804, 2011

महाभारत युद्ध के १८ दिन

April 18th, 2011|Tags: , , , , , , , , |

महाभारत युद्ध के १८ दिन ........... महाभारत युद्ध के प्रथम दिवस -विराट पुत्र -उत्तर और श्वेत का वध हुआ था | प्रथम दिवस ध्रष्टद्युम्न ने क्रोचारुण व्यूह की रचना की थी | पहले ९ दिन [...]

Pin It on Pinterest

Share This