द्वंद्व समासके उदाहरण —-
१ दूध -दही …..दूध और दही
२ भूल चूक …..भूल या चूक
३ पाप -पुण्य …पाप अथवा पुण्य
४ अन्न -जल …अन्न और जल
५ सुख -दुःख ….सुख या दुःख

टिप्पणी ………
कभी कभी सामासिक शब्द का शब्दार्थ के अतिरिक्त भिन्न अर्थ भी प्रकट होता है ,जैसे -आटा -दाल का भाव मालूम होना |यहाँ पर आटा -दाल का अर्थ आटा या दाल से नहीं ,अपितु घर गृहस्थी के कटु अनुभवों की ओर संकेत किया गया है |इसीप्रकार अन्न -जल उठ जाना ,पान तम्बाकू का खर्च उठाना ,मोटा -ताजा रहना ,कहा-सूनी होना आदि के भी भिन्न अर्थ होते हैं |