[ultimatemember form_id=12643]

Monthly Archives: December 2011

//December

तराजू

By | December 18th, 2011|Hindi Blog & Stories|

तराजू --------- जब भी मैं तराजू की कांपती डंडी को कभी इधर तो कभी उधर झुक कर संतुलन बनाते देखती हूँ तो मुझे हर उस नारी की याद आ जाती है जो अपना सम्पूर्ण जीवन  संतुलन बनाने में लगा देता है |इस संतुलन को बनाए रखने में उसे क्या -क्या सहना पड़ता है ,क्या क्या [...]

रावण …एक दृष्टि में

By | December 18th, 2011|Hindi Blog & Stories|

ब्रह्मा के पुत्र पुलस्त्य जी थे |वे मेरु पर्वत पर तप करने गए |वहाँ त्रणविन्दु के आश्रम में वे रहने लगे | वहाँ देव कन्याएँ ऋषि कन्याएँ जल क्रीडा किया करती थी | पुलस्त्य जी ने उन्हें चेतावनी देते हुए कहा कि जो कन्या उनके सामने आएगी वह गर्भवती हो जाएगी | त्रणविन्दु की कन्या [...]

Guest Book

By | December 17th, 2011|guest-book|

error: Content is protected !!
mautic is open source marketing automation