पाण्डव और उनकी पत्नियाँ _
युधिष्दिर की पत्नी द्रोपदी से प्रतिविन्ध्य पुत्र था | दूसरी पत्नी पौरवी थी |उनका पुत्र देवक था |

भीम और द्रोपदी का पुत्र सुतसोम था |
भीम और हिडिम्बा का पुत्र घटोत्कच था
भीम की तीसरी पत्नी बलंधरा का पुत्र शरपत्रात था |
भीम की चौथी पत्नी ;शिशुपाल की बहन देवी काली थी |उनका पुत्र सर्प गत था |

अर्जुन और द्रोपदी का पुत्र श्रुति कीर्ति था |
अर्जुन और नाग कन्या उलूपी का पुत्र इरावन था |

अर्जुन और चित्रांगदा का पुत्र वभ्रुवाहन था
अर्जुन और सुभद्रा का पुत्र अभिमन्यु था |

नकुल और द्रोपदी का पुत्र शतानीक था|
नकुलःऔर करेनुमती का पुत्र निरमित्र था |करेनुमती शिशुपाल की पुत्री थी |

सहदेव और द्रोपदी का पुत्र श्रुतसेन था |
सहदेव की दुसरी पत्नी ;मद्रनरेश शल्य की पुत्री विजया थी |उनका पुत्र सुहोत्र था |
सहदेव की तीसरी पत्नी भानुमती थी |उनकी कोइ सन्तान न थी
सहदेव की चौथी पत्नी ;मगध सम्राट जरासंध की पुत्री थी |
सहदेव को ज्योतिष\में विशेष  रूचि थी |